भारत में महिला पायलटों की संख्या पूरी दुनिया से अधिक है।

INDIAN WOMEN PILOTS सित. २५, २०१९


आमतौर पर आपने भारतीय महिलाओं को लेकर जो ख़बरें पढ़ी होंगी उनमे से ज़्यादातर बलात्कार,शोषण,दहेज,लेंगिक  भेदभाव आदि के बारे में होती हैं पर आज मैं आपको जिस ख़बर के बारे में बताने जा रही हूँ उसे जानकार आप भी हैरान हो जाएँगे। जी हाँ, मैं बात कर रही हूँ भारतीय महिला पायलेटों के बारे में।

इंटरनेशनल सोसाइटी ऑफ वूमेन एयरलाइन पाइलट्स के आंकड़ों का टकराव हुआ, तो पता चला कि भारत में दुनिया में महिला वाणिज्यिक पायलटों का अनुपात सबसे अधिक 12 प्रतिशत था - जो कि ज्यादातर पश्चिमी देशों में दोगुना था और वैश्विक औसत 5 प्रतिशत से ऊपर था।

ये आँकड़ा वाक़ई हैरान करने वाला था। जहाँ पर दुनिया ही नहीं ख़ुद भारत भी मानता है की यहाँ पुरुषों के मुक़ाबले कामकाजी महिलाओं का अनुपात बहुत कम है। ऐसे में ये आँकड़ा सामने आना हैरान करने वाला ज़रूर था पर इसके बाद ये तो पक्का हो गया की भारत के किसी ओर sectors में ना सही पर महिलाओं ने भारतीय airlines में काफ़ी रुचि दिखायी है और खुलकर सामने आयी हैं। इन महिलाओं ने पुरुषप्रधान देश की एक धारणा को तो तोड़ा है कि  महिलाओं की मशीनों में रुचि नहीं होती।

देश के कुछ प्रतिष्ठित फ्लाइंग स्कूलों में महिलाएं लगभग एक चौथाई सीटें भर रही हैं ये एक संकेत है कि महिला पायलटों की संख्या काफ़ी बढ़ रही है।
मार्केट शेयर के हिसाब से देश की सबसे बड़ी मालवाहक कंपनी इंडिगो में दुनिया की प्रमुख एयरलाइनों में महिला पायलटों का अनुपात सबसे अधिक 13 प्रतिशत है। एयरलाइन ने पिछले पांच वर्षों में 80 में से महिला पायलटों की संख्या 330 तक बढ़ने की बात कही है।
एयरलाइन अपने कर्मचारियों के लिए क्रेच चलाती है और फ्लाइंग ड्यूटी ऑफिस की भूमिकाओं से ब्रेक पर गर्भवती पायलटों की पेशकश करती है और आय में किसी भी नुकसान की भरपाई के लिए उन्हें भत्ता देती है।
भारत में पायलटों को वार्षिक आरंभिक वेतन दिया जाता है, जिसमें एयरलाइन और विमान के प्रकार के आधार पर 1.7 मिलियन रुपये ($ 25,000, € 22,000) और 3.3 मिलियन रुपये के बीच उड़ान भत्ते शामिल हैं। यह इंजीनियरों और प्रबंधकों के लिए औसत शुरुआती वेतन से ऊपर है।

ये भारत के उन कुछ व्यवसायों में से एक है जहाँ लिंग के आधार पर कोई भेदभाव नहीं है। पायलटों को वरिष्ठता और उनके बेल्ट के तहत मीलों की संख्या के आधार पर भुगतान किया जाता है।


सुमित सिंह

मेरा नाम सुमित सिंह है। मैंने इतिहास में स्नातकोत्तर किया है तथा मैं दो सुंदर बेटियों की माँ हूँ।मैंने यह ब्लॉग मेरे जैसी अन्य महिलाओं से बात करने के लिए बनाया हैं।