क्या मैं भी यहाँ लिख सकती या सकता हूँ?

women safety अग. १२, २०१९


जी हाँ आप भी यहाँ लिख सकते हो। मैंने यह वेबसायिट/ब्लॉग इसलिए बनाया है ताकि उन लोगों को एक माध्यम मिल सके जो महिलाओं तथा लड़कियों से जुड़े मुद्दों पर बात करना चाहते हैं। इस ब्लॉग पर लिखने के हमारे कुछ दिशा निर्देश ज़रूर हैं जो इसलिए हैं ताकि इस माध्यम का इस्तेमाल सिर्फ़ उसी उद्देश्य के लिए हो जिसके लिए इसे बनाया गया है। चलिए अब बात करते हैं की आप यहाँ कैसे लिख सकते हैं।

इस ब्लॉग पर लिखने के लिए आपको tanooja.com@gmail.com पर एक ईमेल भेजना है।

जब आप हमें ईमेल भेजें तो कृपया इन बातों को बताना ना भूलें:

  1. आपका पूरा नाम
  2. आपका ईमेल ऐड्रेस (अगर आप अपनी किसी दूसरी ईमेल आइडि से अकाउंट बनाना चाहते हैं)। आपको अपना अकाउंट चालू करने की जानकारी इसी ईमेल ऐड्रेस पर मिलेगी।
  3. अपने बारे में एक संक्षिप्त अनुछेद (पैराग्राफ़)। यह आपकी प्रोफ़ायल पर दिखायी देगा।
  4. अपना फ़ेस्बुक प्रोफ़ायल लिंक (अगर आप फ़ेस्बुक पर हैं तो), यह ज़रूरी नहीं है और अगर आप नहीं चाहते की आपकी फ़ेस्बुक जानकारी यहाँ प्रकाशित हो तो आपको हमें यह बताने की ज़रूरत नहीं है।
  5. अपना ट्विटर प्रोफ़ायल लिंक (अगर आप ट्विटर का इस्तेमाल करते हैं तो), यह ज़रूरी नहीं है और अगर आप नहीं चाहते की आपकी ट्विटर से जुड़ी जानकारी यहाँ प्रकाशित हो तो आपको हमें यह बताने की ज़रूरत नहीं है।
  6. अपना वेबसायिट ऐड्रेस (अगर आप अपनी वेबसायिट भी चलाते हैं)। यह ज़रूरी नहीं है लेकिन अगर आप बताना चाहते हैं तो हम इसका स्वागत करते हैं। यह जानकारी आपकी प्रोफ़ायल पर दिखायी देगी।

अब हम उन दिशा निर्देशों की बात करेंगे जिनका ज़िक्र मैं ऊपर किया था। यह कोई लम्बी छोड़ी लिस्ट नहीं है केवल कुछ मूलभूत बातें जिससे हम अपने मुख्य उद्देश्य से ना भटकें।

  1. आप हिंदी या English (अंग्रेज़ी) या अन्य किसी भी भारतीय भाषा में लिख सकते हैं। अगर आप हमें उसका हिंदी या अन्य भाषाओं का अनुवाद भी प्रदान कर सकें तो बेहद अच्छा रहेगा वरना हम उसका हिंदी अनुवाद भी करेंगे तथा आपकी अनुमति के पश्चात अनुवादित लेख को प्रकाशित किया जाएगा। आपके दोनों लेख दोनों या अन्य सभी भाषाओं में आपके ही नाम से प्रकाशित किए जाएँगे। हम हिंदी पर इसलिए ज़ोर देते हैं क्यूँकि यह माध्यम उन सभी महिलाओं और लड़कियों के लिए है जो भारत के हिंदी भाषी प्रदेशों में रहती हैं। हमारी इच्छा तो यह है की किसी भी भाषा बोलने वाली महिला को यहाँ उपयोगी जानकारी प्राप्त हो परंतु मैं जानती हूँ कि व्यावहारिक दृष्टि से अभी ऐसा मुमकिन नहीं है।
  2. कृपया अपने लेख में सभ्य भाषा का प्रयोग करें। याद रखें यह जानकारी यह जानकारी किसी माँ, बेटी, बहन या पत्नी तक पहुँचेगी।
  3. यहाँ किसी प्रकार के उत्पाद (प्रोडक्ट) या सेवा (सर्विस) का प्रचार करने की कोशिश ना करें। हमारा मुख्य उद्देश्य यहाँ कारोबार करना नहीं है। यदि आप आप किसी ऐसे प्रोडक्ट या सर्विस का ज़िक्र करते हैं जो महिलाओं के लिए उपयोगी है तो कृपया ये स्पष्ट तरीक़े से लिखें की क्या आप उस प्रोडक्ट या सर्विस से किसी प्रकार से जुड़े हैं या नहीं। ऐसे करने से हम उन तक यह जानकारी भी पहुँच पाएँगे तथा उन्हें इस बात का निर्णय करने में भी सहायता करेंगे की उन्हें उस सेवा या उत्पाद का इस्तेमाल आपके बोलने पर करना चाहिए या नहीं।
  4. आम तौर पर हम इन मुद्दों पर लेख लिखना चाहते हैं: १) नारी स्वास्थ (women health) २) महिला शशक्तिकरन (women empowerment) ३) महिला सुरक्षा (women safety) ४) शिक्षा और रोज़गार के अवसरों के बारे में जानकारी (education and employment opportunities) ५) परिवार नियोजन (family planning) ६) पोषण तथा साफ़ सफ़ायी से जुड़ी जानकारी (nutrition and hygiene) ७) पारिवारिक तथा सामाजिक मुद्दे (family and social matters)
  5. कृपया भाषण देने की शैली का प्रयोग ना करें। हमारे समाज में नेता तो बहुत हैं हमारा मुख्य उद्देश्य यहाँ मदद करने का है। कोशिश करें की आप जो लेख लिख रहे हैं उसमें ऐसी जानकारी है जिसका इस्तेमाल करके किसी महिला की ज़िंदगी बेहतर हो सके। (Please try to provide practical actionable information)
  6. सभी लेख प्रकाशित करने से पूर्व गुणवत्ता (quality) के लिए समीक्षा के लिए पढ़े जाएँगे (रिव्यू)।

मैं बेहद उत्साहित हूँ तथा उम्मीद करती हूँ हम सब मिलकर कुछ जिंदगियों को एक बेहतर आयाम दे पाएँगे।


सुमित सिंह

मेरा नाम सुमित सिंह है। मैंने इतिहास में स्नातकोत्तर किया है तथा मैं दो सुंदर बेटियों की माँ हूँ।मैंने यह ब्लॉग मेरे जैसी अन्य महिलाओं से बात करने के लिए बनाया हैं।