क्या आप महिलाओं के लिए कुछ करना चाहती हैं?

register अग. २४, २०१९


हमने यह ब्लॉग शुरू किया था ताकि हम समाज में जागरूकता ला सकें कुछ बेहद ज़रूरी सामाजिक मुद्दों को लेकर जो महिलाओं को प्रभावित करते हैं। अगर आपने हमारा यह लेख पढ़ा हो तो आप शायद जानते होंगे की हमारी मुख्य कोशिश यह है की हम कुछ समस्याओं पर बात करें और कुछ समाधान पेश करें उन मुद्दों पर।

मैं आज यह पोस्ट इसलिए लिख रहा हूँ क्यूँकि मुझे लगता है की हम अकेले बेहद कारगर ढंग से सभी विषयों पर नहीं लिख पाएँगे और हमने इसके पीछे के कारणों को समझने का प्रयास किया है।

  1. समय: एक विषय पर लेख लिखने के लिए आपको समय की ज़रूरत होती है। हमने अपने अनुभव से देखा है की आप एक दिन में गुणवत्ता से युक्त केवल एक पोस्ट लिख सकते हैं। एक पोस्ट में निहित जानकारी ग्रहण करने के लिए आपको केवल कुछ मिनट ही लगते हैं। जिसका अर्थ है कि हम उस गति से कांटेंट नहीं बना पा रहे है जिस गति से आप उसे ग्रहण कर रहे हैं।
  2. विशेषज्ञता: हम महिलाओं से जुड़े हर विषय पर विशेषज्ञ नहीं हैं। उदाहरण के तौर पर - स्वास्थ्य और पौषण। इस वजह से हमें कुछ और लोगों की मदद की ज़रूरत है जो इन विषयों पे विशेषज्ञ हों।
  3. संतुलन: ऐसा कांटेंट जो संतुलित हो और समाज की हर महिला का प्रतिनिधित्व करता हो उसको लिखने और बनाने के लिए मुझे लगता है हमें उन महिलाओं से मदद की आवश्यकता है जो समाज के विभिन्न वर्गों और तबक़ों से आती हैं।

दो बेटियों का पिता होने के नाते मेरा यह कर्तव्य है कि मैं उनके बेहतर भविष्य के लिए कुछ योगदान दूँ। सबसे पहला योगदान जो मैं दे सकता हूँ वो उनकी शिक्षा से जुड़ा है जिसके लिए मैं पूर्ण रूप से प्रतिबद्द हूँ। दूसरी मेरी कोशिश यह है कि मैं समाज में उन्हें बराबरी के साथ जीने की शिक्षा दे सकूँ और मेरी अंतिम कोशिश यह है कि समाज में एक जागरूकता आ सके कि क्यूँ बेटियाँ हमारे समाज के लिए बेहद ज़रूरी हैं, क्यूँ हमें समाज में महिलाओं को बराबरी का स्थान देना चाहिए और क्यों यह बेहद आवश्यक है कि हम उन्हें सशक्त बनायें।

मुझे अपने इस प्रयास के लिए मदद की ज़रूरत है और आप मेरी मदद कर सकते हैं अपना कुछ वक़्त यहाँ लिखने को देकर। अगर आप चाहते हैं की आप पोस्ट लिखकर, विडीओ बनाकर या अन्य किसी माध्यम से नारी सशक्तिकरण के लिए कुछ करना चाहते हैं तो कृपया हमें ईमेल करे: tanooja.com@gmail.com.

इस बारे मैं और अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: https://www.tanooja.com/how-to-register/। आपके सहयोग की आशा करता हूँ।


प्रदीप सिंह

मेरा नाम प्रदीप है और में यहाँ एक मेहमान लेखक हूँ। अपने व्यग्तिगत जीवन में मैं दो चुलबुली बेटीयों का पिता होने की वजह से मुझे नारी व्यक्तित्व को बेहद नज़दीक से देखने का अवसर प्राप्त हुआ है।